रविवार, 26 सितंबर 2010

जिसने कहा था मेरा है लम्बा सफ़र बहुत, ज़ंजीर खींच कर वो मुसाफ़िर उतर गया




साहित्य पथ के सुपरिचित माइल स्टोन

कन्हैया लाल नन्दन नहीं रहे

विनम्र श्रद्धांजलि !



जिसने कहा था

मेरा
है लम्बा सफ़र बहुत,


ज़ंजीर खींच कर

वो
मुसाफ़िर उतर गया




4 टिप्‍पणियां:

  1. नन्दन जी आत्मा की शांति के लिये प्रार्थना एवं श्रृद्धांजलि!

    सादर

    समीर लाल

    उत्तर देंहटाएं
  2. मुसाफ़िर उतर गया.sabko jana hi parayga.

    उत्तर देंहटाएं