बुधवार, 16 दिसंबर 2009

प्यार में कायनात प्यारी लग रही है



आजकी यह रात प्यारी लग रही है


आपकी हर बात प्यारी लग रही है




चाँद उतरा है ज़मीं पर, आसमां में


तारों की बारात प्यारी लग रही है




अब नहीं कोई गिला-शिकवा किसी से


प्यार में कायनात प्यारी लग रही है




क्यों करे परवाह दिल अन्जाम की


जिस्म से शुरुआत प्यारी लग रही है




वस्ल है करमा की ऐसी खीचड़ी के


दाल प्यारा, भात प्यारी लग रही है




*** ENJOY LAUGHTER KE PHATKE

WITH ALBELA KHATRI

ON STAR ONE - 17 DEC. 2009 AT 10 P.M.***


2 टिप्‍पणियां: