गुरुवार, 24 दिसंबर 2009

तुम्हें वहम है कि तुमने प्यार किया है




आहट

तुमने की नहीं

बेवफ़ाई करते वक़्त

होने भी नहीं दी

लेकिन

मैंने

सुन ली

इसका मतलब जानते हो ?



मुझे यकीं है

कि तुम नहीं जानते

क्योंकि

जानते

तो मेरे ज़र्फ़ को

और तड़फ को

पहचान जाते.............

यानी मान जाते

कि मुहब्बत

किस चिड़िया का नाम है



तुम्हें वहम है

कि तुमने प्यार किया है

अस्ल में

तुमने प्यार नहीं

बस ..व्यवहार किया है



दुनियादारी की हद में रह कर

तुमने

प्यार को भी

संकुचित कर दिया है



तुम्हारा कुछ नहीं बिगड़ा

लेकिन

आज तुमने

इक आशिक के इश्क़ को

लज्जित कर दिया है



बेशक

मैं तुझे इस हरकत के लिए

शर्मसार नहीं करूँगा

लेकिन

इतना तय है कि तुझसे

मैं प्यार नहीं करूँगा





2 टिप्‍पणियां:

  1. वाह! बहुत खूब.... खूबसूरत रचना....

    उत्तर देंहटाएं
  2. बेशक

    मैं तुझे इस हरकत के लिए

    शर्मसार नहीं करूँगा

    लेकिन

    इतना तय है कि तुझसे

    मैं प्यार नहीं करूँगा


    --बहुत सही!!

    उत्तर देंहटाएं